सबसे खतरनाक होता है मुर्दा शान्ति से भर जाना

LATEST:


बुधवार, 1 जुलाई 2009

बिहार में तरूण तेजपाल की हत्या हो गयी

बिहार के बेतिया जिला स्थित एसपी कार्यालय द्वारा जारी एक प्रेस बयान के मुताबिक तहलका डाट काम, नोएडा वाले तरूण तेजपाल की हत्या कर दी गयी है और हत्या को अंजाम देने वाले को पुलिस ने दबोच लिया है।
बयान के अनुसार बुधवार को खुफिया सूचना मिली की कुख्यात राजेश यादव उर्फ मुलायम, पिता बिगन यादव मांझीविशुनपुरा थाना कोतवाली पडरौना जिला कुशीनगर, (यूपी) बिहार के बेतिया शहर में घटना को अंजाम देने के लिए आया है। पुलिस ने छापेमारी कर इसे गिरफ्तार भी कर लिया है।
जारी प्रेस बयान में पकड़े गये आरोपी का जो आपराधिक रिकार्ड बताया गया है उसमें सातवें नंबर पर कुछ यूं लिखा गया है- तहलका डाट काम, नोएडा के संपादक तरूण तेजपाल की हत्या में अवधेश त्यागी के साथ संलिप्त था।
बहरहाल, जब पुलिस का यह प्रेस बयान मिला तो सभी अचंभित हो गये। कुछ मीडिया वालों ने एसपी कार्यालय को फोन कर इस बाबत पूछताछ की। मीडिया वालों ने बताया कि तरूण तेजपाल जिंदा हैं। वह देश के प्रतिष्ठित पत्रकार हैं। इसके बाद एसपी कार्यालय ने मीडिया वालों से कहा कि गलती हो गयी है। कृपया इस बात का उल्लेख खबरों में नहीं करें।
खैर, इस प्रेस बयान ने बिहार की पुलिस की कार्यशैली को उजागर तो कर ही दिया है।

10 टिप्‍पणियां:

  1. HUM NAHIN SUDHRENGE,CHAHE JITNE JANTA DARBAAR LAGA KEN NITISH BABU.

    उत्तर देंहटाएं
  2. अखलाक जी …मैं शायद आपको पहले पढ चुका हूं…॥और आपका नाम बडा जाना पह्चाना सा लग रहा है……………॥

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिहार पुलिस से बचकर रहने में ही भलाई है। वैसे यहां के नेता ही कौन से कम हैं .....

    उत्तर देंहटाएं
  4. Akhlaq ji bahut din baad aap padhne ko mile . Shyad Makhanlal University chodhene ke baad pahli
    baar .

    उत्तर देंहटाएं
  5. तहलका डाट काम, नोएडा के संपादक तरूण तेजपाल की हत्या में अवधेश त्यागी के साथ संलिप्त था।

    प्रूफ़ की एक छोटी सी भूल को अखलाक साहब आपने इतनी बड़ी सनसनी भरी खबर बना दी.. दोष शायद पत्रकारिता के इस दौर का है जिसमे हम आप जी रहे हैं...
    यादव- तेजपाल जी के हत्या के प्रयास का आरोपी है.. कम से कम यह जानकारी तो आपको सलग्न कर देनी चाहिए थी अपने खबर के साथ..
    (तहलका डाट काम, नोएडा के संपादक तरूण तेजपाल की हत्या में अवधेश त्यागी के साथ संलिप्त था।

    उत्तर देंहटाएं
  6. तहलका डाट काम, नोएडा के संपादक तरूण तेजपाल की हत्या में अवधेश त्यागी के साथ संलिप्त था।

    प्रूफ़ की एक छोटी सी भूल को अखलाक साहब आपने इतनी बड़ी सनसनी भरी खबर बना दी.. दोष शायद पत्रकारिता के इस दौर का है जिसमे हम आप जी रहे हैं...
    यादव- तेजपाल जी के हत्या के प्रयास का आरोपी है.. कम से कम यह जानकारी तो आपको सलग्न कर देनी चाहिए थी अपने खबर के साथ..
    (तहलका डाट काम, नोएडा के संपादक तरूण तेजपाल की हत्या में अवधेश त्यागी के साथ संलिप्त था।

    उत्तर देंहटाएं